• July 16, 2019

Adsense new policy update 2.0 for websites

Hello friends

जैसा की आप टाइटल पढ़के आये है, इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है google adsense new  policy के बारे में या कुछ लोग इसे adsense 2.0 policy भी बोल रहे है! आज कल Youtube में यह वीडियो बहुत चल रही है, मोस्टली लोग जो adsense से रिलेटेड वीडियो बनाते है वह लोग इस टॉपिक पर वीडियो ज़रूर बना रहे है और अच्छे खासे views प्राप्त कर रहे है! या आप कह सकते है की वो अच्छे खासे पैसे भी इस वीडियो से कमा रहे है! और हमेशा की तरह इसका शिकार कौन बनता है, जी हाँ हम जैसी भोली भाली जनता! जैसे सरकार की गलतियों का खामियाज़ा जनता को भुगतना पड़ता है वैसे हे youtube पर कुछ लोग है जो थोड़े से views और पैसे कमाने के लिए जनता को बेवकूफ बनाना नहीं छोड़ते! तो आज मैं आपको यही बताने वाला हूँ की ये जो अपडेट आया है वह सही है या नहीं या फिर ऐसा कोई अपडेट आया भी है के नहीं!

adsense new policy, adsense policy 2.0,

अगर पहले की बात की जाए यानी नवंबर 2018 के पहले की तो आप सब लोगो को पता ही होगा की जब हम कोई वेबसाइट बनाते है और हम चाहते है की उस वेबसाइट के ज़रिये हम कुछ कमाई भी करले उसपर एड्स शो करके तो उसके लिए हमे adsense के लिए अप्लाई करना होता था और adsense हमारी वेबसाइट को verify करके हमे mail भेजता था की आप अब अपनी  वेबसाइट पर ads दिखा सकते है या नहीं! क्यूकी adsense की कुछ policies होती है जिन्हे फॉलो करना सबके लिए अनिवार्य होता है तभी adsense का अप्रूवल हमे मिलता है! और अगर एक बार आपको किसी वेबसाइट पर अप्रूवल मिल गया तो आप चाहे फिर कितनी भी वेबसाइट बना ले आपको दुबारा किसी वेबसाइट को verify नहीं करना पड़ता था क्यूकी आप एक ही adsense की ads अपनी कितनी भी वेबसाइट पर show कर सकते थे और उन सभी से पैसे कमा सकते थे!

बहुत लोग youtube पे बोल रहे है की adsense ने एक मेजर अपडेट किया है अपनी पालिसी में कुछ misusers को रोकने के लिए! अब misuse कैसे कर रहे थे लोग इसे मैं आपको बताता हूँ! हो क्या रहा था की बहुत से branded अकाउंट थे adsense के जो बहुत अच्छी वेबसाइट से approved थे और उनके ads को कुछ लोग spam तरीके से misuse कर रहे थे! अब दुनिया में लोग क्या करते है, जल्दी पैसे कमाने के चक्कर में गलत तरीका इस्तमाल करते है! तो adsense का misuse भी वो लोग करने लग गए थे! अच्छे branded अकाउंट की ads use करके वो छोटी छोटी वेबसाइट monetize करके अच्छा revenue generate कर रहे थे और इससे adsense को काफी loss हो रहा था इसलिए adsense ने ये कदम उठाया और अपनी पॉलिसी में changes लाये! और उनमे से main change था के अब आपको हर वेबसाइट को adsense से approve करना पड़ेगा! यानी जितनी भी आप वेबसाइट आप बनाएँगे उन्हें आपको अप्रूवल के लिए adsense को भेजना पड़ेगा और जो वेबसाइट approve होंगी बस उन्ही पर ads show कर पाएंगे!

Best Quote App For android (DAILY QUOTE REMINDER)

लेकिन अब मैं आपको बताता हूँ के असलियत क्या है! जो बात ये सब लोग बोल रहे है वह है तो बिलकुल सच लेकिन इस्पे भी एक कंडीशन लागू होती है! देखिये प्रूफ के लिए आप लोगो को क्या दिखाया जा रहा है! सब लोग एक e-mail का screenshot आपको दिखा रहे है प्रूफ के लिए जिसकी इमेज आप निचे देख सकते है!

adsense new policy, adsense policy 2.0,

तो इसमें आप देख सकते है की adsense ने साफ़ साफ़ लिखा हुआ है की अगर आपको किसी दूसरी वेबसाइट पर ads show करवानी है तो आपको उसके लिए अलग से approval लेना पड़ेगा! अब आप कहेंगे की जब लिखा हुआ है तो मैं क्यों इतनी बाते गोल गोल घुमा रहा हूँ, क्युकी इसमें भी एक twist है! देखिये मैं आपको बताता हूँ ये जो ऊपर e-mail की इमेज है ये e-mail उनको भेजा जाता है जो अपनी वेबसाइट को approval के लिए भेजते है पर उनका अकाउंट किन्ही वजह से google fully approved नहीं करता! adsense का जो अकाउंट वेबसाइट से जुड़ा होता है वह दो तरह का होता है! पहला fully approved और दूसरा जो fully approved नहीं होता! इसलिए google उन्हें अपनी दूसरी वेबसाइट को भी approved करने के लिए बोलता है! और यही confusion youtube पे कुछ channels अपनी video के ज़रिये लोगो तक पंहुचा रहे है!

Generally, google adsense अकाउंट दो तरह के होते है! पहला है (Hosted account) adsense for hosted content और दूसरा है (Non-hosted account) adsense for content यानि जिसे fully approved adsense account भी कहा जाता है! अगर आपका कोई youtube channel है या फिर blogger पे कोई ब्लॉग है और आपने इन्हे adsense से monetize किया है तो उस adsense अकाउंट को hosted अकाउंट कहा जाएगा और यदि आप google के product wordpress या फिर blogger पर  ही custom domain use करके अकाउंट approved कराते है तो ऐसे अकाउंट को non-hosted अकाउंट या fully approved अकाउंट कहा जाता है! fully approved account में आपको सिर्फ एक बार अपनी किसी भी एक वेबसाइट पर adsense का अप्रूवल लेना होता है और फिर चाहे आप जितनी भी वेबसाइट हो उनपर आप ads लगा सकते है! आप fully approved अकाउंट के e-mail की इमेज भी निचे देख सकते है और यह भी देख सकते है की उसमे गूगल ने साफ़ साफ़ लिखा है के हमारी policy के अंदर जो भी वेबसाइट आती है आप उन सब पर ads लगा सकते है!

adsense new policy, adsense policy 2.0,

मैंने भी यह वीडियो देखकर adsense की forum में search मारा की शायद सच में ऐसा हुआ हो पर मुझे वहां कुछ नहीं मिला! ऐसा कोई भी circular या notice या किसी तरह का post जिसमे गूगल ने ये जानकारी दी हो मुझे नहीं मिला! तो जब तक google यह खुद announce न करदे की उसने policy में ये change किया है तब तक आप किसी की बातो में न आये और समझदार बने! और हाँ आगे जाके अगर adsense कोई ऐसा बदलाव लाता है तो कुछ कह नहीं सकते!

तो आशा करता हूँ की आपको इस article से कुछ help मिली होगी और आपका confusion दूर हुआ होगा! यदि आपको लगे की मैं गलत हूँ और आपने offically adsense का पोस्ट देखा है तो उसका link आप मुझे comment box में दे सकते है! मैं आपका आभारी रहूँगा और अपनी गलती स्वीकार करूँगा!

Also, Read This

About the Author

One Comment

  1. Mahendra 7 months ago

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *